Thursday, December 2, 2021
Home तस्वीर का सच पुष्टाहार में कंकड़,पत्थर और घास-फूस

पुष्टाहार में कंकड़,पत्थर और घास-फूस

लोकतंत्र सेनानी की ऊधमसिंह नगर की डीएम से की जांच की मांग

आपूर्ति वाले ठेकेदार पर मनमानी करने का आरोप

महिलाओं और बच्चों के साथ धरने की चेतावनी

ऊधमसिंह नगर। जिले में सरकार की योजना के तहत गर्भवती महिलाओं,  नवजात शिशुओं और तथा प्रसूताओं के लिए पुष्टाहार का वितरण किया जा रहा है। आरोप है कि इस पुष्टाहार में कंकड़ और पत्थर के साथ ही सूखी घास भी शामिल है। लोकतंत्र सेनानी ने डीएम से इसकी जांच अपने स्तर से करने की मांग की है। ऐसा न होने पर धरने की चेतावनी भी दी गई है।

ज़िला बार एसोसियशन ऊधमसिंहनगर के पूर्व अध्यक्ष और लोकतंत्र सेनानी सुभाष छाबड़ा एडवोकेट ने कहा कि सरकार ने गर्भवती महिलाओं, नवजात शिशुओं और प्रसूताओं को पुष्टाहार देने का फैसला किया है। इस पर सरकार करोड़ों रुपये खर्च कर रही है। छाबड़ा ने इस पुष्टाहार को बेहद निम्न स्तर का बताया और आपूर्ति करने वाले ठेकेदार तथा संबंधित  अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी करवाई की मांग की है।

 एडवोकेट छाबड़ा ने कहा कि जो कुछ भी सरकार दुवारा पुष्टाहार के नाम पर उपलब्ध कराया जा रहा है वो पशुओं के खाने लायक भी नहीं है।  इस पुष्टाहार में  कंकड़, पत्थर,  सूखी घास फूस पर्याप्त मात्रा में है। इसको खाने से बच्चों और महिलाओं की जान भी जा सकती है। एडवोकेट छाबड़ा ने जिलाधिकारी रंजना राजगुरु से मांग की है दी जा रही सामग्री की वे खुद जांच करें तभी कुछ हो सकेगा। वरना अधिकारी और कर्मचारी मामले में लीपापोती करके खत्म कर देंगे। उन्होंने चेतावनी दी अगर प्रशासन ने दोषियों के विरुद्ध करवाई न की तो बच्चों और महिलाओं के साथ धरना देने पर मजबूर होना पड़ेगा।

RELATED ARTICLES

संघ ने कोरोना काल में की निःस्वार्थ सेवा

पहली और दूसरी लहर में कार्यकर्ताओं ने झोंकी ताकत कोरोना की तीसरी संभावित लहर के प्रति किया...

उत्तराखंड में विशेषज्ञ डॉक्टरों की 50 फीसदी कमी

पर्वतीय जिलों बाल रोग विशेषज्ञ महज नाम मात्र के फोरेंसिक, स्किन,साइकेट्रिस्ट डॉक्टर सबसे कम

कोरोना :एक मुर्दे का सफरनामा

प्रमोद शाह की फेसबुक वॉल से मौत अंतिम सत्य है। मरना सब को है। लेकिन मुझे मरे हुए...
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

विपक्ष से मुद्दे ‘छीन’ रहे सीएम पुष्कर

देवस्थानम् बोर्ड के बाद अब भू-कानून की बारी ! वैट घटाकर मंहगाई पर भी किया है बार

अवाम की मांग को तरजीह दे रहे धामी

त्रिवेंद्र सरकार के फैसलों को पलटने में नहीं हिचक मेडिकल पढ़ाई की फीस कर दी कम

एनडी से सीखा कैसे होता है विकासःधामी

तिवारी को भूली कांग्रेस, भाजपा जुटी नाम भुनाने में जनभावनाओं पर लिया देवस्थानम बोर्ड पर फैसला

सीएम पुष्कर ने तोड़ी त्रिवेंद्र की ‘जिद’

देवस्थानम् बोर्ड से खासे नाराज थे तीर्थ पुरोहित विरोध में सांसद स्वामी पहुंचे थे सुप्रीम कोर्ट