Home राजनीति ‘कांग्रेस से जो आएं हैं उनकी हालत देख लें’

‘कांग्रेस से जो आएं हैं उनकी हालत देख लें’

भगतदा इस अंदाज में बयां किया भाजपा में पुराने कांग्रेसियों का ‘हाल’

पहले भी फिसल चुकी है भाजपा अध्यक्ष की जुबां

कर चुके हैं मोदी के नाम पर वोट न मिलने की बात भी

देहरादून। उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष बंशीधर भगत की नजरों में कांग्रेस से पार्टी आने वालों की हालत ठीक नहीं है। पार्टी के एक कार्यक्रम में उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से कहा कि दल-बदल की सोचने से पहले उन लोगों की हालत पर एक नजर डाल लें जो कांग्रेस से भाजपा में आए हैं। भगतदा इससे पहले यह भी कह चुके हैं कि अब मोदी के नाम पर वोट नहीं मिलने वाला।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बंशीधर भगत एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। इस बार उन्होंने कांग्रेस से भाजपा में आने वाले नेताओं की हालत पर टिप्पणी की है। शायद उनकी नजरों में भाजपा में आने वाले पुराने कांग्रेसियों की हालत बेहद खराब है। इसे इस तथ्य के प्रकाश में देखें कि भगतदा ने कहा है कि दल-बदल की सोच रहे कार्यकर्ताओं को उन लोगों की हालत देख लेनी चाहिए, जो कांग्रेस से भाजपा आए हैं। भगतदा का यह बयान ऐसे दौर में आया है, जबकि काबीना मंत्री हरक सिंह रावत सरकार ने अंदरखाने नाराज हैं। वजह यह है कि उन्हें बताए बगैर की कर्मकार बोर्ड अध्यक्ष पद से सरकार ने हटा दिया है। स्वतंत्र प्रभार वाली राज्य मंत्री रेखा आर्या भी अफसरों की कार्यशैली को लेकर सार्वजनिक तौर पर बयान दे रही हैं। कांग्रेस विधायक उमेश शर्मा काऊ भी सरकार से अपनी परेशानियों को लेकर भाजपा आलाकमान को खत लिख चुके हैं। भगतदा का इशारा शायद इन्हीं हालात की ओर रहा होगा।

वैसे भगतदा का इस तरह का अजब बयान पहली बार नहीं आया है। इससे पहले वे विधायकों से यह भी कह चुके हैं कि मोदी के नाम पर बहुत जीत लिए। अब मोदी के नाम पर वोट नहीं मिलेगा। चुनाव जीतना है तो अपने-अपने क्षेत्र में काम करें। पिछले दिनों विकासनगर में एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया ने उनसे सवाल किया था कि 2022 के चुनाव में पार्टी का चेहरा कौन होगा। इस पर बोले थे चेहरा क्या होता है। भाजपा ही चेहरा होगा। उस वक्त भी अध्यक्ष ने त्रिवेंद्र सिंह रावत का नाम लेने से परहेज किया था।

संबंधित खबर—–तो खत्म हो गई मोदी लहर और इफेक्ट !

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

तो क्या ‘चौबे’ से ‘दुबे’ बनने आए हैं ‘भट्ट जी’

हरियाणा से भेजे गए सुरेश को लेकर सियासी गलियारा गर्म अब तक तो सत्ता के शीर्ष पर...

विभागीय आयोजनों से महाराज क्यों ‘दूर’

पहले पर्यटन और अब सिंचाई विभाग के कायर्क्रम में नहीं दिखे मंत्री दोनों कार्यक्रमों में सीएम त्रिवेंद्र...

कोरोनाः उत्तराखंड के लिए खराब रहा 37वां सप्ताह

सर्वाधिक 68 मौत, 3161 नए केस और एक्टिव केस रहे 4876 साप्ताहिक रिवकरी रेट में भी रही...

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर कोरोना का ‘ग्रहण’

हरिद्वार जिला प्रशासन ने गंगा स्नान पर लगाई रोक उल्लंघन करने वालों पर दर्ज होगी एफआईआर

Related News

तो क्या ‘चौबे’ से ‘दुबे’ बनने आए हैं ‘भट्ट जी’

हरियाणा से भेजे गए सुरेश को लेकर सियासी गलियारा गर्म अब तक तो सत्ता के शीर्ष पर...

विभागीय आयोजनों से महाराज क्यों ‘दूर’

पहले पर्यटन और अब सिंचाई विभाग के कायर्क्रम में नहीं दिखे मंत्री दोनों कार्यक्रमों में सीएम त्रिवेंद्र...

कोरोनाः उत्तराखंड के लिए खराब रहा 37वां सप्ताह

सर्वाधिक 68 मौत, 3161 नए केस और एक्टिव केस रहे 4876 साप्ताहिक रिवकरी रेट में भी रही...

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर कोरोना का ‘ग्रहण’

हरिद्वार जिला प्रशासन ने गंगा स्नान पर लगाई रोक उल्लंघन करने वालों पर दर्ज होगी एफआईआर

आपदा प्रबंधन विभाग का अंग्रेजी में हाथ ‘तंग’

जिम्मेदारी से बचने को हिंदी में जारी नहीं की जा रही गाइड लाइन आरटीआई के जवाब में...
error: Content is protected !!