Home ब्यूरोक्रेसी मुख्य सचिवः रेस में ओमप्रकाश अब तक अव्वल !

मुख्य सचिवः रेस में ओमप्रकाश अब तक अव्वल !

सिंह को एक्सटेंशन न मिला तो एक अगस्त को कुर्सी पर मिलेंगे नए अफसर

जिले से लेकर शासन तक नए मुखिया पर ही चर्चा

देहरादून। इस समय जिलों से लेकर सचिवालय तक बस एक ही मुद्दे पर चर्चा हो रही है कि ब्यूरोक्रेसी का प्रदेश प्रमुख कौन होगा। अब तक की चर्चाओं का लब्बोलुआब यही निकल रहा है कि अगर मौजूदा मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह को सेवाविस्तार नहीं मिला तो नए सीएस के तौर पर अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश की ताजपोशी तय सी ही है। सभी अफसरों की निगाहें मुख्यमंत्री के फैसले पर टिकी हैं।

मौजूदा मुख्य सचिव सिंह 31 जुलाई को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। ऐसे में नए मुखिया के नाम पर चर्चा लाजिमी ही है। सिंह इस समय पीएम मोदी की प्राथमिकता वाले केदारधाम प्रोजेक्ट को खुद ही देख रहे हैं। ऐसे में एक चर्चा यह है कि पीएम मोदी उन्हें सेवा विस्तार दे सकते हैं। अब महज तीन रोज ही बाकी है और जिलों से लेकर सचिवालय तक इसी बात की चर्चा हो रही है कि सिंह को सेवा विस्तार मिलेगा या फिर अब की रेस में अव्वल दिख रहे ओमप्रकाश की इस अहम पद पर ताजपोशी होगी।

दरअसल, केदारधाम और चारधाम ऑलवेदर रोड पीएम मोदी की शीर्ष प्राथमकिता में हैं। इसे वे खुद ही मॉनीटर भी कर रहे हैं। उत्तराखंड में सीएस सिंह इसे मानीटर कर रहे हैं। यह काम अभी अधूरा है। ऐसे में एक चर्चा यह भी है कि सिंह की सेवा विस्तार का आदेश अंतिम तिथि तक भी आ सकता है। हां, एक बात यह तय मानी जा रही है कि अगर सेवा विस्तार नहीं होता है तो सिंह की राज्य विद्युत नियामक आयोग में बतौर अध्यक्ष तैनाती होगी ही।

अब सवाल यह कि सेवा विस्तार न हुआ तो अगला सीएस कौन। इस मामले में जो चर्चाएं चल रही हैं, उसके अनुसार अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश का नाम सबसे आगे है। उत्तराखंड कैडर की बात करें तो ओमप्रकाश से सीनियर एक ही अफसर 1985 बैच के अनूप बधावन हैं। वे इस समय केंद्र में वाणिज्य सचिव हैं। इन्हें भी मोदी के चहेतों में शुमार किया जाता है। अगर इन्हें उत्तराखंड आना होता तो सिंह से पहले ही ये मुख्य सचिव बन जाते। इसके बाद 1987 बैच की अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी हैं। ये ओमप्रकाश से एक साल जूनियर है। इसी बैच के एक और अफसर एसएस संधू इस समय केंद्र में एनएचएआई के मुखिया हैं। इनकी गिनती भी मोदी के चहेतों में होती है। इसके अलावा एक और अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार भी ओमप्रकाश से दो साल जूनियर हैं। ये हालात इशारा कर रहे हैं कि इस समय ओमप्रकाश रेस में सबसे आगे हैं। दूसरी बात प्रकाश मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र के भी बेहद नजदीकी हैं।

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

आईपीएस के कदम से सरकार ‘खफा’ !

सीएम त्रिवेंद्र ने संतुलित अंदाज में जताई अपनी असहमति दो विधायकों ने अफसर की कार्यशैली पर उठाए...

विधायक को पुलिस कार्यशैली में आई भ्रष्टाचार की ‘बू’

चीमा बोले, अज्ञात में मुकदमा दर्ज करने से लोग हो रहे परेशान विस में उठाऊंगा ये मामलाः...

कोरोनाः उत्तराखंड में प्लाज्मा थैरेपी शुरू

ऋषिकेश एम्स बना उत्तराखंड का पहला प्लाज्मा डोनेट सेंटर  देहरादून। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में कॉनवेल्सेंट...

केदारधाम की ब्रह्मकमल वाटिका पर ‘कोरोना ग्रहण’

देख-देख न हो सकी तो मुरझा गए यहां खिले तमाम राज्य पुष्प देहरादून। केदारनाथ धाम स्थित पुलिस कैंप...

Related News

आईपीएस के कदम से सरकार ‘खफा’ !

सीएम त्रिवेंद्र ने संतुलित अंदाज में जताई अपनी असहमति दो विधायकों ने अफसर की कार्यशैली पर उठाए...

विधायक को पुलिस कार्यशैली में आई भ्रष्टाचार की ‘बू’

चीमा बोले, अज्ञात में मुकदमा दर्ज करने से लोग हो रहे परेशान विस में उठाऊंगा ये मामलाः...

कोरोनाः उत्तराखंड में प्लाज्मा थैरेपी शुरू

ऋषिकेश एम्स बना उत्तराखंड का पहला प्लाज्मा डोनेट सेंटर  देहरादून। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में कॉनवेल्सेंट...

केदारधाम की ब्रह्मकमल वाटिका पर ‘कोरोना ग्रहण’

देख-देख न हो सकी तो मुरझा गए यहां खिले तमाम राज्य पुष्प देहरादून। केदारनाथ धाम स्थित पुलिस कैंप...

कोरोनाः उत्तराखंड में गिर रहा रिकवरी रेट

जुलाई की शुरुआत में 81 से अंत में रहा गया महज 58 फीसदी हरिद्वार और यूएस नगर...